बिहार के मुज्ज़फरपुर में चमकी बुखार से बच्चों की मौत का तांडव जारी है। अब मरने वाले बच्चों की संख्या 100 से ज्यादा हो गई है। ये संख्या लगातार बढ़ रही है, लेकिन सरकार और मंत्री अब भी हाथ पर हाथ धरे बैठे हैं।

रविवार को केंद्रीय स्वस्थ्य मंत्री हर्षवर्धन सहित राज्य मंत्री अश्विनी चौबे मुज्ज़फरपुर के अस्पताल के दौरे पर थे लेकिन फिर भी हालात जस के तस बने हुए हैं।

बिहार की बीजेपी-जेडीयू सरकार और केंद्र सरकार बच्चों की बीमारी के रोकथाम को लेकर जो भी प्रयास कर रहे हैं वो कम साबित हो रहे हैं। रालोसपा प्रमुख और पूर्व केंद्रीय मंत्री उपेन्द्र कुशवाहा सीएम नीतीश कुमार और पीएम मोदी पर बरसते हुए ट्वीट किया है।

चुनाव के समय 13 बार ‘बिहार दौरा’ करने वाले साहेब 100 बच्चों की मौत पर खामोश क्यों है? : रतन लाल

उन्होने लिखा कि, “लगभग 200 परिवारों का आंगन सूना हो चुका है और हजारों बच्चे काल की गोद में हैं फिर भी डबल इंजन की सरकार सो रही है। अब तो ईश्वर के भरोसे ही बिहार और देश की आशा बची है।”

बता दे कि बिहार में इंसेफ्लाइटिस सिंड्रोम’ से अबतक 100 से अधिक बच्चों की मौत हो चुकी है, जबकि 90 से ज़्यादा बच्चे अस्पताल में भर्ती हैं। लगातार मासूमों की मौत का आंकड़ा लगातार बढ़ता जा रहा है।