• 9.3K
    Shares

बुलंदशहर में हिंसा भड़की और एक पुलिसकर्मी को भीड़ ने बेरहमी से गोली मारकर हत्या कर दी। मगर सीएम योगी आदित्यनाथ उस वक़्त छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री रमन सिंह के साथ गोरखपुर में लाइट शो देख रहें थे।

छोटी से छोटी बात पर विपक्ष पर हमला बोलने वाले योगी ने अबतक चुप्पी नहीं तोड़ी है। वहीं पुलिस ने इस मामले में बजरंग दल संयोजक योगेश राज को मुख्य आरोपी बनाया है।

इस मामले में मुख्य आरोपी योगेश राज को बताया जा रहा है। जोकि पहले एक प्राइवेट नौकरी करता था। फिर साल 2016 में योगेश बजरंग दल का जिला संयोजक बना, उसके बाद नौकरी छोड़कर पूरी तरह संगठन के लिए काम करने लगा।

बुलंदशहरः बजरंग दल का नेता है इंस्पेक्टर सुबोध की हत्या का मुख्यारोपी, पत्रकार बोले- बंद हो ऐसे हिंसक संगठन

पत्रकार रोहित सरदाना ने सोशल मीडिया पर लिखा, बुलंदशहर कांड में बजरंग दल के नेता का पकड़ा जाना इस बात की फिर तसदीक़ करता है कि BJP की सरकार में उनके ‘अपने’ ही आतंक फैलाने में जुटे हैं।

गौरतलब हो कि योगेश राज ने सोमवार को हिंसक भीड़ की अगुआई की थी। यह स्याना के नयाबांस गांव का रहने वाला है और पहले भी कई विवादों में इसका नाम आ चुका है।

पुलिस ने उसके खिलाफ आईपीसी की धारा 147, 148, 149, 307, 302, 333, 353, 427, 436, 394 के तहत मामला दर्ज किया है। पुलिस एफआईआर के अनुसार योगेश राज अपने साथियों के साथ मिलकर भीड़ को भड़का रहा था।

योगी जी आपके ‘अली-बजरंगबली’ का नतीजा है बुलंदशहर कांड, भड़काना बंद करो और यूपी संभालो- रुबिका लियाकत

बता दें कि योगेश की शिकायत पर ही सात गोकशों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया था। योगेश राज ने सोमवार को स्‍याना पुलिस को तहरीर देकर बताया था कि वह अपने कुछ साथियों के साथ सोमवार सुबह करीब नौ बजे गांव महाब के जंगलों में घूम रहा था तभी उसने कुछ लोगों को गोवंशों को कत्ल करते हुए देखा, इसके बाद उन्‍होंने शोर मचा दिया। इसके बाद आरोपी भाग निकले।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here