लोकसभा चुनाव में प्रचार के दौरान तत्कालीन कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने ‘सभी मोदी चोर क्यों हैं’ कहा था। राहुल के इसी बयान पर बिहार के उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी ने मानहानि का केस किया था।

इस मामले में शनिवार को पटना की विशेष अदालत ने राहुल गांधी को 10 हजार के निजी मुचलके पर जमानत दे दी। साथ ही राहुल ने अपने ऊपर लगे आरोप को बेबुनियाद बताया।

राहुल ने कोर्ट के बाहर मीडिया से कहा कि, “जो भी संघ और मोदी जी की विचारधारा के खिलाफ आवाज उठाता है, उसपर हमला होता है और कोर्ट में घसीटा जाता है।

मैं किसानों और मजदूरों के साथ खड़ा होने के लिए आया हूं। जहां भी जाना होगा जाउंगा। मेरी लड़ाई संविधान को बचाने के लिए है। हिंदुस्तान के आवाज को दबाया जा रहा है। मैं कांग्रेस अध्यक्ष नहीं हूं तो भी लड़ाई जारी रखूंगा।”

पत्रकार गौरी लंकेश हत्या से जुड़े मानहानि केस में राहुल गांधी को 4 जुलाई को मुंबई के शिवडी कोर्ट से जमानत मिल गई है। वहीं राहुल को तीन अलग-अलग मानहानि के केस में गुजरात की कोर्ट में पेश होना है। 9 और 12 जुलाई को अहमदाबाद और 24 को सूरत की कोर्ट में पेश होना है।