लोकसभा चुनाव 2019 के आखिरी चरण के आखिरी दिन के प्रचार में बसपा सुप्रीमो मायावती और सपा प्रमुख अखिलेश यादव मिर्ज़ापुर में BJP पर जमकर बरसे। मायावती ने आत्मविश्वास से लबरेज होकर कहा कि, “बीजेपी वालों के लटके चेहरे बता रहे हैं कि ये चुनाव हार चुके हैं। 23 मई के बाद पीएम मोदी के साथ-साथ उनके चेलों के भी बुरे दिन शुरू हो जाएंगे।”

मायावती ने सपा प्रमुख की तारीफ करते हुए कहा कि 6 चरण के चुनाव में पूरे यूपी में अखिलेश यादव ने मेहनत की है और हमें इस बार बड़ी जीत मिल रही है। उन्होंने लोगों से कहा, “अगर आप चाहते हैं कि केंद्र हम अपनी सरकार बनाएं तो गठबंधन की हर सीट को जितना जरुरी है। यहाँ पर सपा का उम्मीदवार है लेकिन आप समझिए कि बसपा ही चुनाव लड़ रही है।

मायावती ने आगे कहा कि, “7 वां चरण महागठबंधन के लिए और भी बेहतर होने वाला है। BJP घबरा गई है। इनकी नींद उड़ गई है। यूपी की पूर्व मुख्यमंत्री ने कांग्रेस पर हमला करते हुए कहा कि, हमारी केंद्र में सरकार बनती है तो हम गरीबों को 6000 रुपए नहीं बल्कि उन्हें पक्की नौकरी देंगे।

वहीं मायावती ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर हमला करते हुए अपनी सरकार में किए गए विकासकार्यों को गिनाते हुए कहा, “हमारा गठबंधन काम में विश्वास रखता है जो लोगों को जमीन पर दिखाई देता है। हम भाजपा की तरह हवा-हवाई बातें नहीं करते। सोनभद्र में नक्सली थे मगर हम उनसे उलझे नहीं बल्कि हमने सोनभद्र को विकास की धारा से जोड़ा।”

गोली मारो, गाली दो और बाद में माफ़ी मांग लो, गोडसे ने गांधी को एक बार मारा था, BJP रोज़ मार रही है

मायावती ने आगे कहा, “माँ बेटियों की इज्जत की हिफाजत के मामले हम BJP से कहीं ज्यादा गंभीर हैं। उन्होंने पीएम मोदी के स्वस्छ योजना पर हमला करते हुए कहा, बसपा सरकार ने डॉक्टर आंबेडकर ग्राम योजना के तहत भाजपा सरकार से कई ज्यादा शौचालयों को निर्माण कराया था। उन्होंने भाजपा पर आरोप लगाते हुए कहा कि, भाजपा वाले जाते-जाते भी जनता को गुमराह करने में लगे हैं