अखिलेश मुलायम को CBI ने आय से अधिक मामले में क्लीनचिट दे दी है। जिसे लेकर सीबीआई ने पहले आय से अधिक संपत्ति मामले में सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव और पार्टी के संस्थापक मुलायम सिंह यादव और प्रतीक यादव के खिलाफ आय से अधिक संपत्ति का मामला दर्ज किया गया था।

अब CBI ने कोर्ट में कहा कि उनको दोनों के खिलाफ रेग्युलर केस रजिस्टर करने के लिए कोई सबूत नहीं मिला है। सीबीआई ने कहा कि इसको लेकर हम जवाब दाखिल करेंगे और कोर्ट को बताएंगे कि आगे हम क्या करेंगे।

जो तड़ीपार ‘जज’ को मरवा सकता है, फर्जी एनकाउंटर करवा सकता है वो क्या EVM नहीं बदलवा सकता?

सुप्रीम कोर्ट में जवाब दाखिल करके बताया था कि उनके खिलाफ PE 2013 में बंद कर दी गई है। कोर्ट ने CBI को चार हफ्ते में जवाब दाखिल करने को कहा था। सीबीआई ने अपने हलफनामे में कहा है कि मुलायम सिंह और अखिलेश यादव के खिलाफ मामला दर्ज करने के लिए कोई सबूत नहीं मिले।

बता दें कि सुप्रीम कोर्ट ने मार्च 2007 में सीबीआई को मामले की जांच का आदेश दिया था। आरोप था कि यूपी के मुख्यमंत्री रहते मुलायम सिंह ने 2।63 करोड़ की अवैध संपत्ति जमा की है। यह मामला वर्ष 1993 से 2005 के बीच का है।