एक तरफ मुज़फ्फरपुर में बच्चों की मौतों हो रही है। दूसरी तरफ दिल्ली के अशोका होटल में नवनिर्वाचित सांसदों के लिए डिनर पार्टी का आयोजन किया जा रहा है। इस भोज में स्वास्थ की ज़िम्मेदारी सँभालने वाले केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ। हर्षवर्धन और केंद्रीय राज्य स्वास्थ्य मंत्री अश्विनी चौबे भी मौजूद रहे।

ये वहीँ मंत्री है जिन्हें मुज़फ्फरपुर में हो रही मौतों पर रोकथाम के लिए ज़रूरी कदम उठाने के चाहिए थे। मगर ये मंत्री पीएम मोदी की पार्टी का लुत्फ़ लेते नज़र आ रहें हैं।

इसे लेकर पूर्व IAS अधिकारी सूर्य प्रताप सिंह ने सोशल मीडिया पर कटाक्ष करते हुए लिखा- बिहार में मृत बच्चों की आत्म शांति के लिए दिल्ली के पांच सितारा होटल में ब्रह्म भोज 400 सांसदों द्वारा भाग लिया और लज़ीज़ व्यंजनों का आनंद उठाया।  पूरा खर्च केंद्र सरकार ने उठाया सरकार ने बच्चों के माता-पिता को दिया ब्रह्मभोज के रुप में मुआवजा।

बता दें कि बिहार में चमकी बुखार से लगातार बच्चों की मौत हो रही हैं। अब तक मौत का आंकड़ा 167 तक पहुंच चुका है। वहीं करीब 650 से अधिक मरीज अब भी इस बीमारी का शिकार हो चुके हैं। मगर खुद को प्रधानसेवक कहने वाले प्रधानमंत्री मोदी अभी योग दिवस मना रहें है।