लोकसभा चुनाव के लिए मतदान ख़त्म चुके है, अब सिर्फ नतीजे आना बाकी है। मगर उससे पहले कोशिश पूरी की जा रही है कि नतीजा अपना पक्ष में किया जा सके है। यूपी से लेकर बिहार तक हर जगह से EVM को बदलने का मामला सामने आ रहा है। वहीं विपक्षी दल के सभी बड़े नेता अपने कार्यकर्ताओं दुवारा काउंटिंग स्टेशन पर नज़र बनाये हुए है।

दरअसल बीते सोमवार को यूपी के गाजीपुर और बिहार के सारण और महाराजगंज लोकसभा क्षेत्र में EVM के साथ धांधली करने का मामला सामने आ चुका है। आरोप है कि जगह-जगह स्ट्रांग रूम में बीजेपी कार्यकर्ता प्रशासन की मदद से ईवीएम मशीनें बदली जा रही है, जिससे की 23 मई को आने वाले परिणामों में धांधली की जा सके।

राष्ट्रीय जनता दल (राजद) ने ईवीएम खेल को देखते हुए सोशल मीडिया पर इशारों इशारों में बीजेपी का बिना नाम लिए उनपर निशाना साधा है।

Exit Poll के फर्ज़ी आंकड़ों के बाद अब EVM बदलने की कोशिश कर रही है भाजपा : कांग्रेस

राजद ने लिखा- जो तड़ीपार जज को मरवा सकता है, अपने दल के उभरते नेता को मरवा सकता है, नकली एनकाउंटर करवा सकता है, फिरौती का धन्धा कर सकता है वो EVM नहीं बदलवा सकता? चुनाव “अयोग्य” में कितनी जान, कितनी विश्वसनीयता है वो सब जानते हैं।

बता दें कि बॉम्बे हाई कोर्ट में दायर एक जनहित याचिका की सुनवाई से यह बात सामने आई है कि 19 लाख़ EVM चुनाव आयोग के कब्ज़े से ग़ायब हैं। यह ईवीएम कहां हैं, इस बारे में किसी के पास कोई जानकारी नहीं है। जो भी हो विपक्ष के आरोप में दम दिखाई देता है कि ईवीएम को लेकर परिणामों में ज़रूर कोई बड़ा खेल हो सकता है।