• 4.8K
    Shares

समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता और अखिलेश सरकार में मंत्री रहे आज़म खान ने जयाप्रदा पर अभद्र टिप्पणी की है। उन्होंने कहा जिसको हम ऊंगली पकड़कर रामपुर लाए, 10 साल जिससे अपना प्रतिनिधित्व कराया।

उनकी असलियत समझने में आपको 17 बरस लगे, मैं 17 दिन में पहचान गया कि इनके नीचे का अंडरवियर खाकी रंग का है।’ हालांकि, उन्होंने इस बयान में कहीं पर भी जयाप्रदा का नाम तो नहीं लिया था।

इस बयान पर विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने मुलायम से गुहार लगाई है। विदेश मंत्री ने लिखा, मुलायम भाई- आप पितामह हैं समाजवादी पार्टी के। आपके सामने रामपुर में द्रौपदी का चीर हरण हो रहा हैं। आप भीष्म की तरह मौन साधने की गलती मत करिये।

कठुआ और MeToo पर चुप रहने वाली ‘सुषमा’ आज़म के बयान को द्रौपदी का चीरहरण बता रही हैं

इस बयान पर आर्मी जवान की पत्नी सिरिषा राव ने लिखा- सम्मान और हौसलाहफाजई जयाप्रदा की आवाज उठाने के लिए, और ऐसे ही रिएक्शन की उम्मीद हर उस महिला के लिए आवाज बनिए जिससे बीजेपी आईटी सेल महिलाओं को गाली देना बंद करें जो ऐसे गंदे काम के लिए बैठे हुए है।

बता दें कि बीजेपी आईटी सेल की ट्रोलिंग का शिकार खुद सुषमा स्वराज भी हो चुकी है। ऐसा इसलिए हुआ था क्योंकि एक अंतरधार्मिक जोड़े द्वारा एक पासपोर्ट अधिकारी द्वारा प्रताड़ित करने के आरोप पर उनके मंत्रालय द्वारा उस अधिकारी के खिलाफ कार्रवाई की थी।

पिछले हफ्ते विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को संबोधित करते हुए किये गये कई ट्वीट में नोएडा की तन्वी सेठ ने शिकायत की थी कि लखनऊ के क्षेत्रीय पासपोर्ट कार्यालय में उनकी पासपोर्ट की अर्जी के बाद हुए इंटरव्यू में एक अधिकारी ने उनका आवेदन अस्वीकार करते हुए उनके एक मुस्लिम से शादी करने और शादी के बाद नाम न बदलने को लेकर अपमानजनक टिप्पणी की थी।