भारतीय जनता पार्टी ने प्रज्ञा ठाकुर को जबसे उम्मीदवार घोषित किया है तब से प्रतिदिन उनके नाम कोई ना कोई विवाद जुड़ता जा रहा है।

कट्टर दक्षिणपंथी विचारधारा के लिए कुख्यात प्रज्ञा ठाकुर रोज कोई ना कोई विवादास्पद बयान देती जा रही हैं।

पहले हेमंत करकरे पर विवादित बयान दिया और उन्हें श्राप से मारने की बात की और अब गांधीजी के हत्यारे नाथूराम गोडसे को ‘देशभक्त’ बता रही हैं।

पूरे चुनाव में भाजपा की फजीहत करवाने वाली प्रज्ञा ठाकुर अब आखरी चरण के चुनाव में भी जमकर किरकिरी करवा रही हैं।

देशभर में तमाम विपक्षी नेता प्रज्ञा की न सिर्फ आलोचना कर रहे हैं बल्कि ऐसी कट्टर आतंकी मानसिकता को खतरनाक भी बता रहे हैं।

प्रज्ञा ठाकुर के इस बयान की निंदा करते हुए समाजवादी पार्टी के नेता और एमएलसी सुनील सिंह यादव लिखते हैं-

शहीद हेमंत करकरे को ‘श्राप’ से मारने वाली BJP प्रत्याशी प्रज्ञा ठाकुर के लिये नाथूराम गोडसे देशभक्त है। गाँधीजी के हत्यारों को देशभक्त मानना BJP की विचारधारा है तो फिर इन भाजपाइयों से बड़ा देशद्रोही कौन है? इसीलिए इन्हें ईश्वर चंद्र विद्यासागर जी की मूर्ति से भी दिक्कत थी।

दरअसल बीजेपी ने प्रज्ञा ठाकुर को भोपाल से सांसद का उम्मीदवार बनाया है, भले ही भोपाल में चुनाव प्रक्रिया संपन्न हो गई हो लेकिन अपने विवादित बयानों के लिए प्रज्ञा ठाकुर अभी भी चर्चा में बनी हुई हैं।