पश्चिम बंगाल में लोकसभा चुनाव के आखिरी चरण के मतदान से पहले सियासी जंग अब हिंसा में तबदील हो गई है। मंगलवार शाम कोलकाता में बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के रोड शो के दौरान BJP कार्यकर्ताओं ने जमकर बवाल काटा।

हिंसा के दौरान ब्राह्मणवाद के खिलाफ मुखर आवाज़ उठाने वाले ईश्वर चंद्र विद्यासगर की प्रतिमा भी तोड़ दी गई। सूबे की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और टीएमसी ने इसके लिए BJP को जिम्मेदार ठहराया है।

ममता बनर्जी ने कहा, ‘बीजेपी रैली में शामिल कुछ गुंडों ने विद्यासागर कॉलेज पर हंगामा किया। हम इसका करारा जवाब देंगे। क्या वे जानते हैं विद्यासागर कौन हैं? ये घटना शर्मनाक है।

बता दें कि हिंसा से एक दिन पहले ही गुजरात से आए BJP कार्यकर्ताओं को बंगाल पुलिस ने एक होटल से बाहर निकाल दिया था। पुलिस ने ये कार्रवाई टीएमसी की शिकायत पर की थी। टीएमसी का कहना था कि बाहर से आए इन कार्यकर्तां के पास हथियार और कैश हो सकते हैं।

मोदी के विरोध में पकौड़ा बेच रहे छात्रों को पुलिस ने किया गिरफ्तार, प्रशांत बोले- अब जेल में रोज़गार देंगे?

ममता बनर्जी ने आरोप लगाते हुए कहा कि कोलकाता में हिंसा फैलाने के लिए BJP बाहर से लोगों को लाई है। ममता बनर्जी और टीएमसी के इन आरोपों के बाद संजय सिंह ने बीजेपी पर ज़ोरदार हमला बोला है।

उन्होंने ट्विटर के ज़रिए कहा, “दंगाई गुजरात से बंगाल पहुँच गए हैं अभी तो सिर्फ़ ईश्वर चन्द्र विद्या सागर की मूर्ति तोड़ी है आगे क्या-क्या करेंगे देखिये? हिंसा और उन्माद की राजनीति से पार्टियाँ तो बच जायेंगी देश नही बचेगा”।