• 2.5K
    Shares

आज राज्यसभा में जम्मू कश्मीर में राष्ट्रपति शासन लगाए जाने के सांविधिक संकल्प पर चर्चा हुई। इस दौरान आम आदमी पार्टी (आप) के सांसद संजय सिंह ने बीजेपी पर जमकर निशाना साधा।

उन्होंने कहा कि बीजेपी कहती है कि वह कश्मीर के हालात बेहतर बनाने के लिए सूबे के लोगों का विश्वास जीतने की कोशिश कर रही है। जबकि सूबे में उसका रवैया इसके उलट है। सूबे में बीजोपी नेताओं की हरकतें ऐसी हैं कि जिससे कभी कश्मीरियों का विश्वास नहीं जीता जा सकता।

आप सांसद ने कहा कि बीजेपी के मंत्री कठुआ में 8 साल की बच्ची के रेप के आरोपियों के समर्थन में रैली निकालते हैं। बलात्कारियों के समर्थन में रैली निकालने वाले कश्मीर के लोगों का विश्वास कैसे जीत पाएंगे।

मोदी बोले- कांग्रेस ने ‘सिख दंगे’ के आरोपी को CM बना दिया, लोग बोले- BJP ने ‘2002 दंगे’ वाले को PM बना दिया

उन्होंने कहा कि कश्मीर में सरकार को इसलिए भंग किया गया ताकि सरकार को राजभवन से चलाया जा सके। मोदी सरकार पूरे देश को तानाशाही के साथ राजभवन से चलाना चाहती है और लोकतंत्र को ख़त्म कर देना चाहती है।

वहीं कश्मीर मुद्दे पर राज्यसभा में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आज़ाद ने बीजेपी पर आरोप लगाते हुए कहा कि बीजेपी-पीडीपी गठबंधन सरकार के शासनकाल के दौरान राज्य में हिंसा की घटनाएं बढ़ी हैं।

जहां ‘बेटियों’ को जिंदा जला दिया जाता हो, उस प्रदेश का CM कह रहा है कि मेरे राज में कोई ‘दंगा’ नहीं हुआ

कांग्रेस नेता ने कहा कि साढ़े चार साल के दौरान सबसे ज्यादा बार सीजफायर का उल्लंघन हुआ, सबसे ज्यादा आम नागरिक मारे गए। इस दौरान उन्होंने बीजेपी को इतिहास से सबक लेने तक की नसीहत भी दी।

जम्मू-कश्मीर में सरकार भंग किए जाने पर टिप्पणी करते हुए आज़ाद ने कहा कि सूबे में बीजेपी ने सत्ता के लिए गठबंधन कर सरकार तो बना ली, लेकिन जब हर मोर्चे पर नाकाम होने लगे तो सरकार भंग कर दी।