• 2.8K
    Shares

इन दिनों हत्यारोपियों का महिमामंडन किए जाने का नया चलन शुरु हो गया है। केंद्रीय राज्यमंत्री जयंत सिन्हा द्वारा झारखंड मॉब लिंचिंग के आरोपियों को माला पहनाए जाने के बाद अब विश्व हिंदू परिषद (VHP) और बजरंग दल ने बुलंदशहर हिंसा के मुख्य आरोपी योगेश राज के नाम से मकर संक्रांति की बधाई वाले पोस्टर लगाए हैं।

बुलंदशहर में कई स्थानों पर मकर संक्रांति, गणतंत्र दिवस बधाई के पोस्टर लगे हैं, जिनमें योगेश राज की तस्वीर भी लगाई गई है। इन पोस्टरों पर योगेश राज को बजरंग दल का ज़िला संयोजक दिखाया गया है।

इन पोस्टरों के सामने आने के बाद सोशल मीडिया पर कई सवाल उठाए जा रहे हैं। पूछा जा रहा है कि आख़िर हिंदुत्ववादी संगठनों को हत्यारोपियों से इतना प्यार क्यों है।

पत्रकार समीर अब्बास ने भी इस पोस्टर को ट्विटर पर शेयर करते हुए पूछा है कि, “इन्स्पेक्टर सुबोध सिंह की जान लेनी वाली बुलन्दशहर हिंसा का आरोपी नम्बर 1 जेल में बंद बजरंग दल का ज़िला संयोजक योगेश राज रोल मॉडल है क्या VHP का”?

वहीं बजरंग दल ने इस मामले में सफाई देते हुए कहा है कि योगेश राज पर इंस्पेक्टर सुबोध कुमार की हत्या का आरोप है, वह अभी दोषी साबित नहीं हुआ है। इसलिए उसके नाम से पोस्टर लगाए जा सकते हैं।

बजरंग दल के प्रांत सह संयोजक प्रवीण भाटी ने कहा कि योगेश राज बजरंग दल का जिला संयोजक है। इसलिए उसका पोस्टर हमारे कार्यकर्ताओं ने लगाया है। पोस्टर लगाने का उद्देश्य केवल मकर संक्रांति और गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएं देना है। योगेश हिंसा व इंस्पेक्टर सुबोध की हत्या के मामले में आरोपी है। दोषी नहीं है।

बता दें कि योगेश राज को घटना के एक महीने बाद 3 जनवरी, 2019 को पुलिस ने गिरफ्तार किया था। बुलंदशहर जिले के स्याना थाना के पास 3 दिसंबर को कथित गो हत्या की अफवाह के बाद काफी हिंसा हुई थी। इस हिंसा में पुलिस इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह और सुमित नाम के एक युवक की मौत हो गई थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here