मालेगांव बम धमाके की आरोपी और भोपाल लोकसभा सीट से बीजेपी उम्मीदवार साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने अब महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे को ही देशभक्त बता दिया है। प्रज्ञा ने यह बात कमल हसन के गोडसे को हिंदू आतंकी बताए जाने वाले बयान पर पलटवार करते हुए कही है।

चुनाव प्रचार के दौरान साध्वी प्रज्ञा ठाकुर से पत्रकारों ने सवाल किया कि कमल हसन ने नाथूराम गोडसे को हिंदू आंतकवादी बताया था, इस बारे में वह क्या कहना चाहती हैं। इसपर प्रज्ञा ठाकुर ने कहा, ‘नाथूराम गोडसे देशभक्त थे। देशभक्त हैं और देशभक्त रहेंगे। उन्हें हिंदू आतंकवादी बताने वाले अपने गिरेबान में झांककर देखें। अबकी बार चुनाव में ऐसे लोगों को जवाब दे दिया जाएगा।’

प्रज्ञा पर भड़की कांग्रेस, कहा- ये भाजपाई गोडसे को देशभक्त बताते है और हेमंत करकरे को देशद्रोही

साध्वी प्रज्ञा के इस विवादित बयान की चौतरफा आलोचना हो रही है। विपक्षी दल के नेताओं से लेकर पत्रकारों और समाजसेवियों ने नाथूराम गोडसे को देशभक्त बताए जाने पर ऐतराज़ जताया है। इसी फेहरिस्त में अब नेशनल कॉन्फ्रेंस (NC) के उपाध्यक्ष और जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला का नाम भी जुड़ गया है।

उमर अब्दुल्ला ने ट्वीट के ज़रिए सवाल करते हुए कहा, “अगर राष्ट्रपिता का हत्यारा देशभक्त है तो इस लिहाज़ से महात्मा गांधी को राष्ट्रविरोधी हैं क्या?” 

बता दें कि अभिनेता से नेता बने कमल हसन ने महात्मा गांधी की हत्या करने वाले नाथूराम गोडसे को आज़ाद भारत का पहला हिंदू आतंकी बताया था। उन्होंने तमिलनाडु में चुनाव प्रचार करते हुए कहा था, ‘आजाद भारत का पहला आतंकवादी एक हिंदू था और उसका नाम नाथूराम गोडसे था। मैं यह इसलिए नहीं कह रहा हूं क्योंकि यहां पर कई सारे मुस्लिम मौजूद हैं। मैं महात्मा गांधी की मूर्ति के सामने खड़े होकर यह कह रहा हूं।’

ग़ौरतलब है कि साध्वी प्रज्ञा जबसे भोपाल से बीजेपी की उम्मीदवार बनीं हैं तबसे वह लगातार अपने विवादित बयानों को लेकर चर्चा में हैं। इससे पहले उन्होंने मुंबई हमले में शहीद हुए एटीएस चीफ हेमंत करकरे के बारे में आपत्तिजनक टिप्पणी की थी। उनके विवादित बयानों के कारण चुनाव आयोग कई बार उनके चुनाव प्रचार करने पर रोक भी लगा चुका है।