राजस्थान में सरकार तो बदल गई है, लेकिन मॉब लिंचिंग की वारदातों पर लगाम नहीं कसी। यहां भीड़ द्वारा लोगों की जान लेने का सिलसिला बदस्तूर जारी है। ताज़ा मामला राजसमंद से सामने आया है। जहां उग्र भीड़ ने एक मुस्लिम हेड कांस्टेबल को बेरहमी से पीट-पीट कर मार डाला।

जानकारी के मुताबिक, भीम पुलिस स्टेशन में तैनात 45 वर्षीय हेड कांस्टेबल अब्दुल गनी ज़मीन से जुड़े एक मामले की जांच के लिए हमेला की बेर गांव गए थे। वह बाइक से लौट रहे थे तभी भीड़ ने लाठियों से उन पर हमला कर दिया। भीड़ ने उन्हें बेरहमी से पीटा। जिसके बाद कॉन्स्टेबल को घायल अवस्था में भीम अस्‍पताल ले जाया गया जहां इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई।

बताया जा रहा है कि पूरे वाकये के दौरान ग्रामीण मूक-दर्शक बने रहे। बाद में कुछ ग्रामीणों ने इसकी सूचना पुलिस को दी। जिसके बाद डीएसपी राजेंद्र सिंह, सीआई लाभूराम विश्नोई और पुलिस टीम मौके पर पहुंची और पड़ताल शुरू की। टीम इस प्रकरण में शामिल लोगों की पहचान करने में जुटी है।

अब्दुल गनी फरवरी 1995 में राजस्थान पुलिस की सेवा से जुड़े थे। उन्होंने राजसमंद के कुंवारिया, आमेट, देवगढ़, राजसमंद एवं भीम पुलिस थाना क्षेत्र में सेवाएं दी। जानकारी के मुताबिक हेड कांस्टेबल की चार बेटियां और एक बेटा है।