बीएसएफ के पूर्व जवान तेज बहादुर यादव ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को उनके ही गढ़ वाराणसी में घेरने के लिए समाजवादी पार्टी (सपा) के टिकट पर अपना नामांकन दाखिल कर दिया है। सपा द्वारा तेज बहादुर को टिकट दिए जाने पर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सपा प्रमुख अखिलेश यादव को बधाई दी है।

उन्होंने ट्वीट कर लिखा, ‘अखिलेश जी, आपको बहुत बहुत बधाई’। केजरीवाल ने तेज बहादुर को सलाम करते हुए कहा, ‘मोदी को चुनौती देने के लिए तेज़ बहादुर को सलाम’।

वाराणसी में सपा का बड़ा दांव, चौकीदार नरेंद्र मोदी के सामने असली चौकीदार तेज बहादुर यादव को उतारा

उन्होंने कहा, ‘एक तरफ़ माँ भारती के लिए जान दाँव पर लगाने और जवानों के हक़ की लड़ाई में अपनी नौकरी गँवाने वाला शख़्स दूसरी ओर जवानों की आवाज़ उठाने वाले की नौकरी छीनने और जवानों की लाशों पर वोट माँगने वाला शख़्स’।

बता दें कि तेज बहादुर 2017 में उस वक्त चर्चा में आए थे जब उन्होंने एक वीडियो जारी कर जवानों को मिलने वाले खाने की क्वालिटी को लेकर शिकायत की थी। इस शिकायत के बाद उन्हें बर्खास्त कर दिया गया था। तभी से वह केंद्र सरकार के खिलाफ आवाज उठाते रहे हैं।

सपा के उम्मीदवार बने तेज बहादुर, AAP बोली- जनता राफ़ेल के दलाल को चुनेगी या सेना के जवान को

बीते दिनों ही तेज बहादुर यादव ने ऐलान किया था वह भ्रष्टाचार के मुद्दे पर चुनाव लड़ रहे हैं। उन्होंने तब कहा था कि मैंने भ्रष्टाचार का मामला उठाया लेकिन मुझे बर्खास्त कर दिया गया। मेरा पहला उद्देश्य सुरक्षा बलों को मजबूत करना और भ्रष्टाचार खत्म करना होगा।

साफ है कि एक तरफ बीजेपी राष्ट्रवाद के मुद्दे पर इस लोकसभा चुनाव में आगे बढ़ रही है, तो वहीं महागठबंधन ने अब उनके सामने एक पूर्व सैनिक को ही मैदान में उतारकर बीजेपी के लिए मुश्किल खड़ी कर दी है।