दिल्ली में विधानसभा चुनाव से पहले केजरीवाल सरकार की मुफ़्त बिजली योजना को लेकर राजनीतिक बवाल शुरू हो गया है।

आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने विजय गोयल द्वारा एक अखबार को दिए बयान का हवाला देते हुए बीजेपी नेतृत्व से सवाल पूछे हैं।

संजय सिंह ने भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा- ‘भाजपा की आम आदमी विरोधी नीति उजागर हो गई है, भाजपा ने घोषणा की है कि अगर सत्ता में आए तो केजरीवाल सरकार की 200 यूनिट मुफ्त बिजली योजना को खत्म कर देंगे। भाजपा की इस मंशा को उनके राज्यसभा सदस्य ‘विजय गोयल’ ने उजागर किया है।’

संजय सिंह ने कहा, ‘एक सांसद को 5 हजार यूनिट बिजली प्रतिमाह मुफ्त मिलती है, उसे खत्म करने के बारे में बीजेपी सांसद नहीं सोचते, लेकिन अरविंद केजरीवाल सरकार द्वारा आम आदमी को 200 यूनिट बिजली मुफ्त मिल रही है, तो उसे खत्म करने का काम कर रहे हैं. जनता ऐसी पार्टी को कभी माफ नहीं करेगी. जनता ने मन बना लिया है 200 यूनिट मुफ्त बिजली योजना जारी रहेगी और आम आदमी पार्टी की सरकार और मजबूती से वापसी करेगी।’

आम आदमी पार्टी नेता संजय सिंह ने सवाल पूछते हुए कहा, ‘भाजपा वाले बताएं कि क्या कभी भी किसी भी राज्य में गरीबों को राहत दी है? क्यों 5.50 लाख करोड़ पूंजीपतियों के माफ कर दिए? 10.50 लाख करोड़ एनपीए हो गए और उसकी भरपाई के लिए आरबीआई से 1 लाख 76 हजार करोड़ क्यों लिए गए? अगर केजरीवाल सरकार सस्ती बिजली दे रही है, तो क्या वोट खरीद रहे हैं? अगर गरीब को राहत दे रहे हैं तो क्या वोट खरीद रहे हैं?’

वहीँ इस मामलें में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल भी बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा -‘ बीजेपी सत्ता में आते ही आम आदमी पार्टी सरकार द्वारा दी जा रही बिजली सब्सडी को खत्म कर देगी। ‘.

उन्होंने कहा कि – ‘बीजेपी के नेता विजय गोयल ने यह बयान दिया है, वो खुद सांसद हैं और हर महीने 4,000 यूनिट मुफ्त बिजली पाते हैं. फिर भी जनता को 200 यूनिट मुफ्त बिजली देने में उनको दिक्कत है. हालांकि मैं चुनाव से पहले सार्वजनिक रूप से यह कहने के लिए बीजेपी सांसद का शुक्रिया अदा करना चाहता हूं. अब जनता दो विपरीत मॉडलों में से एक का आसानी से चुनाव कर सकती है।