देश में अब बांटने की राजनीति का चलन शुरु हो गया है। कुछ दिनों पहले ही ख़ुद को वीएचपी का कार्यकर्ता बताने वाले अभिषेक मिश्रा ने हिंदू समाज के लोगों से मुसलमानों का आर्थिक बहिष्कार करने की अपील की थी। अब इसी तर्ज़ पर समाजवादी पार्टी के विधायक नाहिद हसन ने मुसलमानों से अपील की है कि BJP से जुड़े दुकानदारों से समान न खरीदें।

दरअसल, सोशल मीडिया पर कैराना से विधायक नाहिद हसन का एक वीडियो वायरल हो रहा है। जिसमें वह अपने विधानसभा क्षेत्र में मुस्लिम समाज के लोगों से BJP से जुड़े दुकानदारों से सामान न लेने की अपील करते हुए दिखाई दे रहे हैं।

नाहिद हसन ने कहा, “मेरी आप सभी से यह अपील है। सभी कैराना और आसपास गांव के लोग जो यहां से सामान खरीदते हैं, उनसे हाथ जोड़कर अपील है कि BJP के जितने भी लोग बाजार में हैं इनसे सामान लेना बंद कर दें। दस दिन-एक महीना तक चाहे झिंझाना से लेना पड़े या पानीपत से जाकर सामान ले लो। थोड़े दिन कष्ट उठा लो”।

उन्होंने कहा, “आपके ऐसा करने से BJP के लोगों की तबीयत में सुधार आ जाएगा। इन्हें पता चल जाएगा। हम सबके लिए यही बेहतर है। हम सामान खरीदते हैं तो इनका घर चलता है। इनका घर चलने के कारण हमलोगों पर जूता चलाया जाता है”।

हालांकि जब उनके इस बयान पर विवाद हुआ तो उन्होंने सफाई देते हुए कहा, “मेरे बयान का गलत मतलब निकाला जा रहा है। वहां छोटे गरीब दुकानदारों को परेशान किया जा रहा है। हम देश में सिर्फ बीस फीसदी ही हैं। बीजेपी सांप्रदायिक राजनीति में लिप्त है। मैंने सिर्फ गरीबों की आवाज उठाई है। वहां खालिद ठेलीवाला है तो शिवा चाट वाला भी है। वहां जाकर हकीकत जानिए। आप बड़े व्यवसाइयों के पक्ष में बोल रहे हैं”।

बता दें कि इससे पहले 10 जुलाई को कथित वीएचपी कार्यकर्ता अभिषेक मिश्रा ने ट्विटर के ज़रिए हिंदू समाज के लोगों से मुसलमानों का आर्थिक बहिष्कार करने की अपील की थी। मिश्रा ने कहा था, “सच्चे हिंदुओं जितना अधिक हो सके, कोशिश करो कि इन मुसलमानों का आर्थिक बहिष्कार करो..आर्थिक चोट, शारीरिक चोट से बढ़कर होती है”।