• 1.1K
    Shares

लोकसभा चुनाव की घोषणा के साथ ही बीजेपी नेताओं का कांग्रेस में पलायन शुरु हो गया है। इसी क्रम में अब उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री और भाजपा सांसद भुवन चंद्र खंडूरी के बेटे मनीष खंडूरी ने शनिवार को कांग्रेस का दामन थाम लिया है।

मनीष देहरादून के परेड ग्राउंड में कांग्रेस के चुनावी मंच पर पार्टी अध्‍यक्ष राहुल गांधी की मौजूदगी में कांग्रेस में शामिल हुए। मनीष खंडूरी के कांग्रेस में शामिल होने को भाजपा के लिए झटके के तौर पर देखा जा रहा है। राहुल ने कांग्रेस में खंडूरी का स्वागत करते हुए कहा कि उनके आने से पार्टी मज़बूत होगी।

इस मौके पर राहुल गांधी ने बीसी खंडूरी को संसदीय समिति से निकाले जाने को लेकर बीजेपी पर जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा कि बीसी खंडूरी डिफेंस से जुड़ी संसदीय समिति के चेयरमैन थे लेकिन सच बोलने की वजह से उन्हें हटा दिया गया।

राहुल गांधी ने कहा, ‘खंडूरी जी के पिता ने अपनी पूरी जिंदगी देश के लिए और सेना के लिए दे दी लेकिन संसद की कमिटी में एक सवाल उठाने के बाद उनके साथ क्या हुआ? क्या खंडूरी जी ने सच बोलकर गलती की? उन्होंने सच बोला कि देश की सुरक्षा का मामला है लेकिन नरेंद्र मोदी जी ने एक देशभक्त को कमिटी से उठाकर फेंक दिया।’

बता दें कि बीसी खंडूरी ने पिछले साल सितम्बर में डिफेंस से जुड़ी संसदीय समिति में सेना के पास हथियार की कमी का मामला उठाया था। जिसके बाद उन्हें संसदीय कमिटी के चेयरमैन के पद से हटा दिया गया था।

वहीं इस मौके पर मनीष खंडूरी ने कहा, ‘मुझे भरोसा है कि राहुल गांधी के नेतृत्व में कांग्रेस देश को मजबूत बनाएगी। यहां आने से पहले मैं अपने पिता का आशीर्वाद लेकर आया हूं। उन्होंने मुझसे पूछा कि क्या मैं सच के रास्ते पर चल सकता हूं, मैंने इसका जवाब हां में दिया।’