• 1.8K
    Shares

लोकसभा चुनाव के प्रचार की शुरुआत कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने गुजरात से शुरू की। जिसका असर अब दिखने लगा है। हार्दिक पटेल के कांग्रेस में आने के बाद इस बात के कयास लगने लगें थे कि कांग्रेस अब गुजरात में मोदी शाह की जोड़ी को सीधे टक्कर देने का मन बना चुकी है।

अब BJP को एक और झटका लगा है, पाटीदार आंदोलन में महिला चेहरा रही रेशमा पटेल ने बीजेपी छोड़ दी है। पार्टी छोड़ने के बाद रेशमा ने जो कहा वो उससे भी ज्यादा बड़ा बयान है। उन्होंने कहा कि BJP एक ‘मार्केटिंग कंपनी’ बन चुकी है और इसके सदस्य ‘सेल्स पर्सन’ बन गये हैं।

पाटीदार आंदोलन छोड़ BJP में शामिल होने वाली रेशमा पटेल ने अमित शाह को बताया ‘घमंडी’, बोलीं- ये उनकी अहंकार की हार है

इसके बाद उन्होंने ऐलान किया वो लोकसभा चुनाव में गुजरात के पोरबंदर सीट से लड़ेंगी। हालाकिं उन्होंने साफ़ कहा कि फिलहाल वो कांग्रेस किसी और दल में नहीं जा रही है वो निर्दलीय ही चुनाव लड़ सकती हैं।

पार्टी सदस्यों से ‘मजदूरों’ की तरह बर्ताव किया जाता है

शुक्रवार को भेजे अपने इस्तीफे में रेशमा ने बीजेपी पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि पार्टी सदस्यों से ‘मजदूरों’ की तरह बर्ताव किया जाता है। बीजेपी नेता तानाशाह की तरह काम करते हैं और पार्टी कार्यकर्ताओं को मजदूर समझते हैं।

BJP नेता रेशमा पटेल ने पार्टी के विकास के दावों को बताया झूठा, कहा- भाजपा विनाश की राजनीति करती है

बता दें कि रेशमा पटेल पहले हार्दिक पटेल के आरक्षण आंदोलन से जुड़ी समिति की प्रमुख सदस्य थीं। दिसंबर 2017 में विधानसभा चुनावों से पहले वह बीजेपी में शामिल हो गयी थीं। तब उन्होंने हार्दिक पर ‘कांग्रेस का एजेंट’ होने का आरोप लगाया था।